ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स 2019

काला अजार
July 25, 2019
गैरकानूनी गतिविधियाँ (रोकथाम) संशोधन विधेयक, 2019
July 26, 2019

New Delhi: Union Minister for Railways and Commerce & Industry Piyush Goyal, World Intellectual Property Organization Director General Francis Gurry and Department for promotion of Industry and Internal Trade (Mo C&I) Secretary Ramesh Abhishek at the Global launch of 'Global Innovation Index 2019', in New Delhi, Wednesday, July 24, 2019. (PTI Photo/Vijay Verma) (PTI7_24_2019_000106B) *** Local Caption ***

वाणिज्य और उद्योग मंत्री ने 24 जुलाई, 2019 को नई दिल्ली में ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स -2019 जारी किया। इस इंडेक्स में  भारत को पांच रैंक का लाभ मिला है!  2018 में भारत 57 वें स्थान पर था। इसमें दुनिया भर के 129 देशों और अर्थव्यवस्थाओं के नवाचार प्रदर्शन को स्थान दिया।
रैंकिंग 80 संकेतकों पर आधारित थीं, जिसमें पारंपरिक माप जैसे अनुसंधान और विकास, निवेश और अंतर्राष्ट्रीय पेटेंट और ट्रेडमार्क एप्लिकेशन से लेकर नए संकेतक मोबाइल फ़ोन-एप्प निर्माण और उच्च-तकनीकी निर्यात शामिल थे।

जीआईआई 2019 के बारे में

  • ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स 2019 की पहचान है कि सार्वजनिक अनुसंधान और विकास व्यय, विशेष रूप से कुछ उच्च आय वाले देशों में, धीरे-धीरे बढ़ रहे हैं या बिल्कुल नहीं बढ़ रहे हैं
  • यह बुनियादी अनुसंधान और विकास और मूल(ब्ल्यू स्काई) अनुसंधान के वित्तपोषण में सार्वजनिक क्षेत्र की केंद्रीय भूमिका के बारे में चिंताओं को बढ़ाता है, जो भविष्य के नवाचारों की कुंजी हैं।
  • हालांकि, भारत, ईरान, ब्राजील, रूसी संघ और तुर्की भी शीर्ष 100 सूची में शामिल हैं।
  • रिपोर्ट प्रमुख विज्ञान और प्रौद्योगिकी समूहों के बारे में बात करती है जो अमेरिका, चीन और जर्मनी में स्थित हैं।
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी के शीर्ष पांच समूह हैं – टोक्यो-योकोहामा (जापान); शेन्ज़ेन-हांगकांग, चीन (चीन); सियोल (कोरिया गणराज्य); बीजिंग, चीन); सैन जोस-सैन फ्रांसिस्को (अमेरिका)।
  • एशियाई अर्थव्यवस्थाएं विशेष रूप से मध्यम आय वाली हैं, जो तेजी से वैश्विक अनुसंधान और विकास (आरएंडडी) और डब्ल्यूआईपीओ की अंतर्राष्ट्रीय पेटेंट प्रणाली के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय पेटेंटिंग दरों में योगदान कर रही हैं।
  • ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स ने वर्ष 2019 के लिए थीम की घोषणा की है – क्रिएटिंग हेल्दी लाइव्स – द फ्यूचर ऑफ मेडिकल इनोवेशन,
  • इस थीम का उद्देश्य चिकित्सा नवाचार की भूमिका का पता लगाना है क्योंकि यह स्वास्थ्य सेवा के भविष्य को आकार देता है।

जीआईआई 2019 में भारत की स्थिति

  • भारत की रैंक में सुधार हुआ है , भारत 52 वें स्थान पर पहुंच गया है।
  • 2018 में भारत 57 वें स्थान पर था।
  • नवाचार और नव-उभरती प्रौद्योगिकियों के संदर्भ में भारत अच्छा प्रदर्शन कर रहा है!
  • 2015 के बाद से वैश्विक सूचकांक में 29 स्थानों पर अपनी स्थिति में सुधार किया है।
  • 2015 में भारत 81 वें स्थान पर था, जो 2016 में 66, 2017 में 60 और 2018 में 57 पर पहुंच गया।
  • रिपोर्ट कहती है कि भारत मध्य और दक्षिणी एशिया में सबसे नवीन अर्थव्यवस्था बना हुआ है।

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स

  • जीआईआई एक अर्थव्यवस्था के नवाचार प्रदर्शन को मापने के लिए एक प्रमुख संदर्भ है।
  • 2019 में अपने 12 वें संस्करण में आगे बढ़ते हुए, जीआईआई एक मूल्यवान बेंचमार्किंग टूल के रूप में विकसित हुआ है!
  • यह सार्वजनिक-निजी संवाद और जहाँ नीति-निर्माता, व्यापारिक नेता और अन्य हितधारकों को वार्षिक आधारपर नवाचार प्रगति का मूल्यांकन कर सकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *